गीता -: सदैव प्रासंगिक

Posted on December 22, 2021April 20, 2022Categories आलेख, धार्मिक   Leave a comment on गीता -: सदैव प्रासंगिक

श्रीमद्भगवद्गीता के प्रत्येक श्लोक में ज्ञान का अनूठा प्रकाश है। मानव जीवन की इस उत्कृष्टतम आचार संहिता की विशिष्टता यह है कि अमन का यह संदेश युद्ध की भूमि से दिया गया है। किंकर्तव्यविमूढ़ मनुष्य को आत्मकल्याण का पथ सुझाकर भटकाव से बचाने वाले इस शास्त्र में किसी पंथ विशेष की नहीं, अपितु विश्व मानव के हित के लिए बुद्धि, कर्म, ज्ञान, योग व आत्मतत्व की तथ्यपूर्ण चर्चा मिलती है। श्रीमद्भगवद्गीता महाभारत के छठे खंड “भीष्म पर्व” का वह हिस्सा … Continue reading “गीता -: सदैव प्रासंगिक”